बुधवार, 5 नवंबर 2008

हर जुबा पर तेरा ही नाम था
मेरे मरने के पीछे तुझे पाने का जो आरमान था
हर जुबा पर तेरा ही नाम था

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें