शनिवार, 29 नवंबर 2008

मुलाकात

आखे हुई चार ,
दिल मे आया प्यार ,
कुछ लम्हों की मुलाकात ,
साल बीते इनके सहारे हजार ........

1 टिप्पणी:

  1. प्रेम का एक छोटा-सा अनुभव जन्म-जन्मान्तर तक साथ रहता है, गुदगुदाता रहता है . अच्छा है.

    उत्तर देंहटाएं