शुक्रवार, 9 जनवरी 2009

मेरी दुआ

दीप जलते जगमगाते रहे ,
हम आप को आप हमे याद आते रहे ,
जब तक जिन्दगी है दुआ है हमारी ,
आप चाँद की तरह जगमगाते रहे ....................

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें