शुक्रवार, 23 जनवरी 2009

दिल को हमसे चुराया आपने ,
दूर होकर भी अपना बनाया आपने,
कभी भूल नहीं पायेंगे हम आपको,
क्योंकि याद रखना भी तो सिखाया आपने..................................

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें