मंगलवार, 6 जनवरी 2009

हमे मोंत ने भी दगा दिया

ऐ मोत्त,
उन्हें भुलाय ज़माने गुजर गए ,
अब तो आजा बेवफा ,
की हमे जहर खाए ज़माने गुजर गए ................

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें