शुक्रवार, 13 मार्च 2009

ये समां, समां है प्यार का ,किसी के इंतजार का

दिल मे प्यार आया ,

किसी का इंकार याद आया ,

किसी की याद आए ,

अगर हा

तो मेरी जान को भी KHAH देना कोई ,

मुझे भी हर पल वो ही याद आए ............

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें