गुरुवार, 23 अप्रैल 2009

हकीकत

हकीकत जान लो
जुदा होने से पहले
मेरी सुन लो
अपनी कहने से पहले
बहुत रोई है ये आँखे
मुस्कुराने से पहले!

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें