रविवार, 5 अप्रैल 2009

coment on baba ramdev (blOG PAR)



सुनाने kay लिए प्ले करे और अपने पीसी का volume तेज करे

1 टिप्पणी:

  1. आपके कमेंट्स सुने मेरे पास ब्रोड बैंड कनेक्श्न नहीं है इसलिए आपको सुनने में एक घन्टा मशक्कत की. में स्वामी रामदेव का विरोधी नहीं हुं बल्कि उनका समर्थक हुं. मुझे दर्द उनकी समाज सेवा से नहीं उनके द्वारा किसी दल विशेष के लिए वोट मागंने पर है में उस दल का भी विरोधी नहीं हुं परन्तु इस बात का जबाब चाह्ता हुं की जब वो दल सता में था तब राम मदिंर की बात क्यों नही की??? तब काला धन क्यों नहीं लाए ??/ अब रामदेव जी ने उनको अपना कन्धा बन्दुक चलाने के लिए दे दिया है उसका दर्द है। स्वामी जी को समाज सुधार करना था तो अलग पार्टी बनाते.

    उत्तर देंहटाएं