शनिवार, 23 मई 2009

दिल का दर्द शायरी की जबानी -19

किस की बात मे करू ,
उस की जिस ने मुझे धोखा दिया ,
या उस की जिस ने मुझे सहारा दिया ,
या उस की जिस नए मुझे सहारा दे कर एक बार फ़िर और बड़ा धोखा दिया ,
बात मे से बात निकल जायेगी ,
और मेरे दोस्त आख़िर मे तुम्हे भी मेरी तरह विश्वाश करने से बगावत हो जायगी ...........................

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें