मंगलवार, 9 जून 2009

मोहबत के रिश्ते ...........

संभालो प्यार से इनको अगर ये छूट जाएँगे ....
खिलोनों की तरह गिर कर ज़मीन पर फूट जाएँगे ॥

बहुत मुश्किल से बनते हैं मुहब्बत का यहाँ रिश्ते
हिफाज़त कर न पाओगे तो एक दिन टूट जाएँगे ......................

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें