बुधवार, 10 जून 2009

दोस्ती और सजा

हम दोस्तों को बोहुत बुरी सज़ा देते हैं ,

वाह वाह ..!!

इरशाद इरशाद ..!!

हम दोस्तों को बोहुत बुरी सज़ा देते हैं ,
जूता नहीं मारते ,
बस
मोजा सुंघा देते हैं////////////////

1 टिप्पणी: