रविवार, 5 जुलाई 2009

अपनी महूबा को दे ये प्यार का पैगाम

आप की महूबा आप से रूठ गई है , प्यार का पैगाम इस लिफाफे मे दे , फिर भी न माने तो बताना .......







adult










कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें