सोमवार, 14 सितंबर 2009

बहादुर लड़कियां नहीं, कॉलगर्ल थीं वे !

नवभारत टाईम्स मे पर्काशित ये ख़बर क्या आप का नजरिया किसी भी तरीके से बदल पाया है ?
नोएडा ।।
सेक्टर-12 मेट्रो चौराहे के पास शुक्रवार रात का एक नजारा। सड़क पर गिरे हुए एक युवक की दो लड़कियां जमकर पिटाई कर रही हैं। उसे जमकर गालियां भी दे रही हैं। यह देख लोगों की भीड़ जुट गई। खबर फैली कि दो लड़कियों ने बहादुरी दिखाते हुए चेन छीन कर भाग रहे एक स्नैचर को दबोच लिया है।

सूचना मिलते ही पुलिस भी तत्काल मौके पर पहुंची। जिस युवक की पिटाई हो रही थी उसे पुलिस ने कस्टडी में ले लिया। घटना की जानकारी के लिए दोनों युवतियों को भी थाने लाया गया। युवक से जब पुलिस ने पूछताछ की तो उसने राज खोला कि ये दोनों लड़कियां कॉलगर्ल हैं। वह बहादुरी का कोई कारनामा नहीं कर रही थीं, बल्कि तय हुई रकम की वसूली का 'प्रयास' कर रही थीं।

इनसे पूछताछ के आधार पर पुलिस ने उन दो ऑटो ड्राइवरों को भी गिरफ्तार किया जो उन्हें दिल्ली से नोएडा ले आए थे। अब पुलिस इनके पूरे रैकेट का पता लगा रही है। हालांकि इस केस में पुलिस को कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले हैं, लिहाजा इन पर अश्लील हरकत करने का आरोप लगाया है। पूछताछ में चौंकाने वाली बात आई है कि पकड़ी गई दोनों कॉलर्गल्स दिल्ली के एक कॉलेज की स्टूडेंट हैं। दोनों को शुक्रवार देर रात ही महिला थाने में भेज दिया गया।

इस मामले में पकड़ा गया युवक परसेन है। उसने अपने एक अन्य साथी से मिलकर 2-2 हजार रुपये में दिल्ली इन कॉलर्गल्स को शुक्रवार रात नोएडा बुलाया था। दिल्ली से ऑटो के जरिए नोएडा आने का खर्च भी दोनों युवकों को देना था। शुक्रवार रात दोनों कॉलगर्ल सेक्टर-12 मेट्रो चौराहे के पास पहुंची। दोनों युवक काफी देर तक उनके साथ टहलते रहे। इसे देख दोनों कॉलगर्ल ने उनसे तय हुए रुपयों की मांग की और लौटने की बात कही। इसी बात को लेकर इनमें विवाद हो गया।

मामला तूल पकड़ने पर दोनों कॉलगर्ल गाली गलौच करने लगीं। इसी दौरान एक युवक फरार हो गया, जबकि परसेन नामक युवक को सड़क पर ही दोनों कॉलगर्ल ने गिरा दिया और पिटाई शुरू कर दी। वहां मौजूद लोगों ने इस बारे में सेक्टर-24 थाने में सूचना दी कि किसी स्नैचर को दबोच कर दो लड़कियां पिटाई कर रही हैं। पुलिस भी तत्काल मौके पर पहुंची। मामले का जब खुलासा हुआ तो पुलिस ने दोनों ऑटो ड्राइवर रवि और राजू को गिरफ्तार करलिया


ख़बर के स्रोत पर जाने के लिए यहाँ क्लिक करे

1 टिप्पणी:

  1. पता नहीं समाज कहाँ जा रहा है.....यही हाल रहा तो हर लड़की कालगर्ल और हर लड़का चोर,लूटेरा या अपराधी बन जायेगा......आप ने लिखा है कि वे कालेज की छात्राएं थी.....खूब शिक्षा ले रहीं है वे.....उनके द्वारा पैदा हुए पुत्र उनके दलाल और पुत्रियां कालगर्ल नहीं बनेगीं तो और क्या बनेगी....कर्म अपना रंग कभी न कभी तो दिखायेगा ही.....पर समाज.........पता नहीं कहाँ जा रहा है.....

    उत्तर देंहटाएं