बुधवार, 2 दिसंबर 2009

हसी की खुराक

संता का गधा खो गया तो संता भगवान की प्रार्थना कर शुक्रिया अदा करने लगा।

बंता ने पूछा- तुम्हारा गधा खो गया और तुम भगवान को धन्यवाद दे रहे हो।

संता- मैं धन्यवाद इसलिए दे रहा हूं की अच्छा हुआ मैं उस पर नही बैठा हुआ था नही तो मैं भी खो जाता

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें