बुधवार, 9 दिसंबर 2009

रेनू के लिए

कल मैने खुदा से पूछा कि खूबसूरती क्या है?
तो वो बोले खूबसूरत है
वो लब जिन पर दूसरों के लिए एक दुआ है
खूबसूरत है वो मुस्कान
जो दूसरों की खुशी देख कर खिल जाए
खूबसूरत है वो दिल
जो किसी के दुख मे शामिल हो जाए
और किसी के प्यार के रंग मे रंग जाए
खूबसूरत है वो जज़बात
जो दूसरो की भावनाओं को समझे
खूबसूरत है वो एहसास
जिस मे प्यार की मिठास हो
खूबसूरत है वो बातें
जिनमे शामिल हों दोस्ती और प्यार की किस्से कहानियाँ
खूबसूरत है वो आँखे
जिनमे कितने खूबसूरत ख्वाब समा जाएँ
खूबसूरत है वो आसूँ
जो किसी के ग़म मे बह जाएँ
खूबसूरत है वो हाथ
जो किसी के लिए मुश्किल के वक्त सहारा बन जाए

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें