मंगलवार, 5 जनवरी 2010

हसी की खुराक

पत्नी (गुस्से मे ) - तुम्हारे दिमाग मे गोबर भरा है
पति (प्यार से ) -तो इतनी देर से चाट क्यों रही हो जानेमन

1 टिप्पणी: