बुधवार, 31 मार्च 2010

कार्टून - mouse का future

लड़की पटाने का शेर नंबर - (अब याद नहीं )

Valentine rain hearts
दिल की नही जान की ज़रूरत हो तुम,
जमी की नही आसमान की इनायत हो तुम,
और अब हम क्या आपकी तारीफ करे,
हुस्न की नही कयामत की मूरत हो तुम.
Valentine heart stone



सोमवार, 29 मार्च 2010

एक नन्ही कली


एक नन्ही कली कहे पुकार के ,
मत मारो मुझे जान के ,
मुझसे भी थोडा प्यार करो ,
जीने का मुझ को भी कुछ अधिकार दो

                                                                        अमित जैन

माँ

बच्चे  को करे जो हर वक्त प्यार ,
माँ के अलावा कोन होगा मेरे यार ,
कभी माँ की नजरो से देखना इस संसार को ,
मिट जायेगा सारा दुखो का संसार

                                                    अमित जैन

शनिवार, 27 मार्च 2010

लड़के छेड़ते हैं


लड़की अपनी दादी से : मैं स्कूल नहीं जाऊंगी।
दादी: क्यों?
लड़की: रास्ते में लड़के छेड़ते हैं।
दादी: बहाने मत बना और स्कूल जा।

मैं भी रोज उसी रास्ते से बाजार जाती हूं,
मुझे तो कोई लड़का नहीं छेड़ता।

जब लड़की झुकती है


सवाल : जब कोई लड़की नीचे झुकती है तो क्या दिखता है ?
जवाब : उसका संस्कार दिखता है , 

.
.
.
.
.
.
.
.
.





और जो आप सोच रहे हैं उससे आपका संस्कार दिखता है।

आज का कार्टून-२

उसका पार्ट-टाइम धंधा: कभी मर्डर, कभी ऐक्टिंग

आज का कार्टून -१

एक खबर  
जानलेवा हमला: कोर्ट ने नेकचलनी पर छोड़ा

एक शेर जो गाव में चलता है



आपके आने से खिल गया है आँगन,
आअपके साथ से झूम उठता  है गगन,
आप हो इसीलिए खुश है सारा चमन,
और आपसे प्यार करने को हम लेंगे हज़ारों जॅनम




एक लड़की के दिल से -१



आकाश के तारो में खोया है जहाँ सारा,
उन तारो में लगता है चाँद प्यारा,
एक एक तारा उस चाँद के लिए टूटता है,
पर वो चाँद है जो सुबह के सूरज के लिए ही बुझता है.




शुक्रवार, 26 मार्च 2010

कार्टून -पति का इंतजार करती पत्नी

रिश्तों को तोडती कुछ बात -१

रिश्तों में दरार डालती हुई कुछ बाते यदि हम समझ ले तो शायद  हमारे रिश्ते चाहे कोई भी , किसी भी तरीके का हो कभी भी नहीं टूट सकता , कही बार देखा गया है कि पति और पत्नी दोनों की कामकाजी होते है , अगर दोनों कामकाजी है तो ये जरुरी होगा की दोनों कार्य  छेत्र मे उनके सहयोगी भी होगे , और जब आप किसी के साथ रोजाना बैठते है तो , आप और आप के सहयोगी में एक आत्मीय रिश्ता भी बन जाता है ,जिसे हम दोस्ती कहते है , यहाँ तक सब सही रहता है , रिश्तों  में मुश्किल जब शुरू होती है जब कोई पति या पत्नी अपने जीवन साथी के साथ अपने सहयोगी के सामने बात करे और उन बातों में ये महसूश कर वाने  की कोशिश करे की वो ही घर में ,  profession  में senior  है , उस की ही बात हर समय चलती है , आमतोर पर सभी इन बातों को बहुत हलके रूप में लेते है , लकिन कभी कभी ये बाते अचानक ही किसी भी पक्ष के मन में तीर की तरह चुभ जाती है ,जिसे वो बोल कर नहीं बता सकता लकिन उस के व्यवहार में वो बाते झलकने लगती है , तो मेरे पाठकों , दोस्तों बस एक छोटी सी बात को अपने मन में बसा ले की कभी भी आप अपने सहकर्मियों के सामने अपने पति या पत्नी को बातों में ये अहसाश मजाक में भी नहीं कर वायेगे की वो आप से छोटा  या छोटी है , बस इतना सा करने पर आप अपने ववाहिक जीवन का पूर्ण रूप से खुशी के साथ आनंद ले

सोमवार, 22 मार्च 2010

है कोई जो इस पहली को सुलझाए ?

अरे दोस्तों आप तो अचानक ही बड़े परेशां हो गए , भाई  बात ये है की मै आप को एक कहानी बताता हू , अगर आप के पास उस पहली का कोई जवाब है तो जरुर बताना , 
तो  कहानी सुरु होती हैएक शहर से जहा  एक लड़का और एक लड़की अचानक ही मिलते है ,विनय और ऋतू ,दोनों जब मिले तो दोनों ही अपनी पारिवारिक सामाजिक समस्या से  परेशान थे ,विनय ने जब ऋतू को पहली बार देखा तो उसे लगा की ये लड़की उन के जीवन में उन का साथ ईमानदारी से दे सकती है , उसे उस लड़की की  जिंदगी का कुछ भी नहीं पता था ,विनय ऋतू दोनों ही अपने अपने profession  में अच्छे  थे ,विनय ने अपने आप को स्थापित करने के लिए न जाने क्या क्या किया था , उस की मासिक आमदनी कितनी थी उस  ने  कभी  ध्यान  ही  नहीं  दिया  , क्योकि  वो  अपने  साथ  के  दोस्तों  से  बहुत  आगे  जा  चूका  था  , विनय  ने  कभी  भी  नहीं  तो  पैसो  का  दिखावा  करना  पसंद  किया  , ना   ही  कभी  वो अपनी मन की बाते ,दर्द ,कभी किसी को कह पाया , बस चुप हो कर उन बातों के दर्द को अपने सीने  में दबा कर हर किसी से मुस्कुराते हुए ही मिलता था ,ऋतू  ने भी अपने काम के लिए मेहनत कर के वो मुकाम हासिल कर लिया था जो शायद उस के परिवार मे आज तक किसी ने भी हासिल नहीं किया था 
 दोनों जब पहली बार मिले तो दोनों ने ही अपनी जिन्दगी की सब बाते आपस मे बता दी , और अपनी जिन्दगी की शुरुआत एक सच के साथ किया , ऋतू की जिन्दगी मे जो पहले लड़का था उस ने ऋतू को वापस पाने के लिए हार तरह की कोशिश की यहाँ तक की वो ऋतू के घरवालो को भी भड़काने से बाज नहीं आया , ऋतू ने शायद कभी नहीं सोचा था की वो विनय को कभी भी किसी भी मोड  पर कोई दुःख देगी , लेकिन कभी कभी वो बातो ही बातो मे विनय को पैसो के बारे मे कोई बात कहती थी , जो की विनय चुप चाप सुन लेता और कभी भी ऋतू को इस बारे मे नहीं कहता , विनय हमेशा कोशिश करता  की ऋतू को कभी भी किसी भी तरीके की परेशानी ना हो , शायद यही कारण था की उस के लिए ऋतू की पिछली जिन्दगी की कोई भी बात बेमानी थी , अब पहली  ये है की आप  बताओ की  विनय अपने दर्द को कैसे ख़तम करे , या सारी जिन्दगी इस दर्द के साथ रहे , ऋतू को वो कुछ कह सकता नहीं ,ऋतू अपने आप ना जाने कब समझे जी , रिश्ता की इस नाजुक कड़ी को वो एक मजबूत  बंधन  कैसे बनाय?

रविवार, 21 मार्च 2010

ऐसा भी होता है ?

Fetch
डॉक्टर मरीज के पीछे भाग रहा था।

एक आदमी ने पूछा क्या हुआ?

डॉक्टर- 4 बार ऐसा ही हुआ है ये आदमी ब्रेन का ऑपरेशन करवाने आता है और बाल कटवाकर भाग जाता है।

एक चुटकला अलग्सा


काल्पनिक जवाब
काल्पनिक जवाब

संता (बंता से)- यार उत्तर पत्रिका पर क्या लिखूं ?

बंता (संता से)- यही कि इस शीट पर लिखे गये सभी जवाब काल्पनिक है जिनका किसी भी किताब से कोई संबंध नही है।

एक चुटकला


पटना
पटना

रैगिंग के वक्त लड़कों ने 1 लड़की से कहा, एक सवाल का जवाब दो- पटना कहां पर है?

लड़की- बिहार में।

लड़का- यहीं पट जाओ इतनी दूर जाने की क्या जरुरत है।


आशिक की कहानी २ पल में



तेरा सहारा-तेरी आरज़ू-तेरी ज़ुस्तज़ू भी नही,
थी जिसकी ज़रूरत-वो रूबरू ही नही,

यून तो दुश्मन भी शामिल मेरे ज़नज़े पे,
एक तुझसे थी मोहब्बत-और तू ही नही....


लड़की पटाने का शेर नंबर -११



दर्द ही दर्द चुभता है आँखों में..
आँसुओं में भी जलन सी महसूस होती है..
ज़िंदगी खत्तम हुए एक अरसा हो चला..
बस दर्द ही है जो धड़कनो में बहता है..



शुक्रवार, 19 मार्च 2010

अमित की कॉमिक पेज -१

मंगलवार, 16 मार्च 2010

संता सिंह

एक दिन संता अपनी गर्लफ्रेंड के साथ मुंबईके मरीन ड्राइव के पास बैठे अपनी शादी की बात कर रहे थे-

संता (गर्लफ्रेंड से): मुझ बहुत चिंता है, पता नहीं हमारी शादी हो पाएगी  या नहीं।
गर्लफ्रेंड (संता से): पता है, मेरी मां को तुम बहुत अच्छे लगते हो, वे तुम्हें बेहद पसंदकरती है।
संता: अरे ये क्‍या एक और टेंशन, लेकिन तुम चिंता मत करो, मैं शादी तो सिर्फ तुम्हीं से करूँगा!

शनिवार, 13 मार्च 2010

एक और चुटकला


बहू की विदाई के बाद घर आने पर सास ने कहा- बेटी आज से मुझे मां और अपने ससुर को पापा कहना...

शाम को पति के आने पर पत्नी बोली, मां भैया आ ये...

शुक्रवार, 12 मार्च 2010

एक खतरनाक खबर - लडको के लिए



अश्लील दृश्य दिखाने पर सरकार ने फैशन टेलीविजन चैनल पर 12 मार्चे से दस दिन के लिये प्रतिबंध लगा दिया है.

सरकारी सूत्रों ने बताया कि सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने दस दिन तक एफटीवी चैनल के प्रसारण पर प्रतिबंध लगा दिया. यह प्रतिबंध आज शाम से प्रभावी होगा. केबल टेलीविजन एक्ट के नियमों के उल्लंघन के लिये यह प्रतिबंध लगाया गया.

इससे पहले ‘मिडनाइट हाट’ जैसे कार्यक्रम प्रदर्शित करने के लिये चैनल पर 2007 में दो माह के लिये प्रतिबंध लगाया गया था.

बुधवार, 10 मार्च 2010

अपने कंप्यूटर में छिपे हुए म्यूजिक को सुनो

क्या आप जानते हो की आप के कंप्यूटर में पहले से ही म्यूजिक छिपा होता है ,
नहीं जानते
add bar में ये पेस्ट करो C:\Windows\system32\oobe\images\title.wma
 enter karo or suno 

मंगलवार, 9 मार्च 2010

परेशां कुते की बात

रविवार, 7 मार्च 2010

पासवर्ड सुरक्षा ?



आप कुछ दिशा-निर्देश अपनाकर अपना पासवर्ड और डाटा सुरक्षित रख सकते हैं। कभी भी यूजरनेम, लॉगइन या पासवर्ड बनाने के लिए व्यक्तिगत जानकारी का इस्तेमाल मत करें। इसके बदले अपने रिश्तेदारों के नाम, निकनेम और जन्मतिथि आदि से यूजरनेम, पासवर्ड बनाए जा सकते हैं।

आइडेंटिटी पासवर्ड या दूसरी चीजों की चोरी करने वाले ऐसे ब्योरे तक पहुंचने में अब पहले के मुकाबले आसानी महसूस करने लगे हैं। इसलिए, ऐसे यूजरनेम और पासवर्ड इस्तेमाल करना महत्वपूर्ण हो सकता है जिसका आपके व्यक्तिगत इतिहास से कोई लेना-देना न हो। एक से ज्यादा वेबसाइट, कार्ड या खातों के लिए एक ही लॉगइन या पासवर्ड इस्तेमाल मत करें। अगर चोर किसी एक पासवर्ड तक पहुंचने में कामयाब रहता है तो आपको होने वाला नुकसान काफी ज्यादा होगा।

कई अध्ययनों में यह बात सामने आई है कि यूजर की ओर से चुने जाने वाले पासवर्ड का अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है। इसके अलावा छोटे पासवर्ड कमर्शियल स्तर पर उपलब्ध पासवर्ड रिकवरी टूल से ज्यादा आसानी से पता लगाए जा सकते हैं।

ऐसे सॉफ्टवेयर हर सेकंड 2,00,000 पासवर्ड जांचने की क्षमता रखते हैं। अपने पासवर्ड की सुरक्षा बढ़ाने के लिए कोशिश कीजिए कि आप बड़े पासवर्ड बनाएं। न्यूनतम 8 कैरेक्टर का पासवर्ड तैयार करें और प्रयास हो कि उसमें अपर और लोअर केस के लेटर, न्यूमरल और सिम्बल शामिल हों। आम शब्द उपयोग में मत लाएं।

अपने आप को हैकर की जगह रखकर देखिए। कभी अत्यधिक सरल पासवर्ड (जैसे 123456, 777777 या एबीसीडीईजीएफ) इस्तेमाल में न लाएं। इसके अलावा, एक से दिखने वाले अंक या सिम्बल से परहेज कीजिए। अपराधी और दूसरे हैकर आपका पासवर्ड तोड़ने के कई रास्ते जानते हैं और एक दिखने वाले अंकों, अक्षरों और सिम्बल को पहचानना उनके लिए आसान है।

लेकिन इन्हें चतुराई से इस्तेमाल कर हैकर से एक कदम आगे रहा जा सकता है। स्पेलिंग गलत लिखने से आपको फायदा हो सकता है। बाजार में कई एप्लीकेशन उपलब्ध हैं जो आपके विभिन्न पासवर्ड को डिजिटल आधार पर सुरक्षित कर सकते हैं। बिल्ट इन ब्राउजर के इस्तेमाल से बचना बेहतर है क्योंकि यह सुरक्षा खामियों के दायरे में आसानी से फंसा सकते हैं।


सर्फिंग में सुरक्षा ?






इंटरनेट सर्फिग के दौरान भी ‘सावधानी हटी, दुर्घटना घटी’ वाला फार्मूला अपने रंग दिखाता है। न जाने किस साइट से और किस मेल के रूप में वॉयरस आपके कंप्यूटर को हानि पहुंचा दे, इससे हर कदम पर सावधान रहने की जरूरत है। हालांकि सर्फिग के दौरान जो सामान्य सर्चइंजन और साइट्स आप इस्तेमाल करते हैं उनकी तरफ से भी अपनी साख और ग्राहकी बनाए रखने के लिए काफी इंतजाम किए जाते हैं।

साखदार सर्च इंजन में तो नुकसान की आशंका वाली हर घातक साइट के बारे सूचना आपको दे दी जाती है कि यह साइट आपके कंप्यूटर को हानि पहुंचा सकती है। ऐसे में यह आप पर है कि उन साइट्स के आकर्षक होने और उपयोगी लगने पर भी आप संकट में फंसने से खुद को बचाएं।

पॉपअप ब्लॉक करे: इसी तरह पॉपअप के जरिए या थर्ड पार्टी डिमांड को बाधित करके भी आप अपने कंप्यूटर लैपटॉप और मोबाइल को हानिकारक साइटों के प्रकोप से बचा लकते हैं।

फिशिंग फिल्टर: एक अन्य उपाय यह है कि आपके इंटरनेट एक्सप्लोरर पर फिशिंग फिल्टर की व्यवस्था रहे जिससे हर खुलने वाली साइट या नेट पन्ने के फालतू पॉपअप से आप अपने कंप्यूटर को सुरक्षित रख सकें।

लोकप्रिय नामों से बचें : हाल ही में कैटरिना और एसआरके जैसे नामों की खोज के दौरान हानिकारक वॉयरस ने बहुत से कंप्यूटरों को अपना निशाना बनाया था। यह वॉयरस इतना खतरनाक था उसने पूरी हार्डडिस्क क्षतिग्रस्त कर दी। गूगल की गलत स्पैलिंग या एमएसएन से मिलते-जुलते नाम से धोखा देते सर्चइंजन भी ईसर्फिग के दौरान हानि पहुंचाने का काम कर सकते हैं। इनसे परहेज करना चाहिए।

आकर्षण गेम्स और चित्रों का: देखने में आया है कि ज्यादातर कंप्यूटरों में बेहद लुभाते गेम्स, लुभावने चित्रों और एडल्ट मैटिरियल में रुचि दिखाने के दौरान लोगों के कप्यूटर में खतरनाक वायरस आया। इनसे बचने में ही भलाई है।

रक्षक बने भक्षक: इंटरनेट सर्फिग के दौरान आपके कंप्यूटर को हानिकारक वॉयरस से बचाने का दावा करते पॉपअप भी सामने आते हैं। ये आपके कंप्यूटर को खतरे में बताते हुए संकटमोचक के रूप में एंटीवॉयरस प्रोग्राम मुफ्त डाउनलोड करने का न्योता देते हुए अवतरित होते हैं। इस बारे में हमारी सलाह यही है कि इनका कतई भरोसा न करें। ये आपके कंप्यूटर को हैक करने का काम भक्षक बन कर करते हैं।

बुधवार, 3 मार्च 2010

रूठी महबूबा मानाने के लिए शेर -७



हर बंदे के मुक़द्दर मे मोहब्बत का धुआ नही होता.
जो एक बार दिल मे बस जाए वो मेहमा नही होता.
ज़िंदगी मे कभी तजरुबा कर क देख लेना दोस्तो,
पहले प्यार को भुला देना इतना आसान नही होता.




लड़की पटाने का सेंटी मेंटल शेर



गुज़र रही है अधेरो में  में अब तो आ जाओ
अगर चिराग  नही तो ये घर जला जाओ
उमीद हो रही कमज़ोर दिन-बा-दिन 

अब तो
तुम्हारा फ़ैसला क्या है हमें बता जाओ .
Monkey Kiss