शनिवार, 27 मार्च 2010

एक शेर जो गाव में चलता है



आपके आने से खिल गया है आँगन,
आअपके साथ से झूम उठता  है गगन,
आप हो इसीलिए खुश है सारा चमन,
और आपसे प्यार करने को हम लेंगे हज़ारों जॅनम




कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें