गुरुवार, 15 अप्रैल 2010

एक लड़की के दिल से -2



बेवफा है वो ज़माने भर का,
फिर भी अच्छा है ज़माने भर से......

1 टिप्पणी: