मंगलवार, 26 अक्तूबर 2010

क्या आप का भी किसी ने छाता उधर लिया है ?

छाता ?
             जय भगवान किसी से कह रहे थे ,
' कौन सा छाता ?
पहली बात तो यह कि मैंने कभी भी तुमसे छाता मांगा ही नहीं और अगर मांगा भी होगा तो मैंने लिया नहीं होगा। अगर तुमसे लिया भी होगा तो लौटा दिया होगा और अगर लौटाया नहीं होगा तो अब लौटाऊंगा भी नहीं , क्योंकि मौसम का कुछ पता नहीं कि कब बारिश हो जाए।