रविवार, 20 नवंबर 2011

प्यार की आजमाइश

प्यार हर इंसान को आजमाता है,..
किसी से रूठ जाता है तो किसी पे मुस्कुराता है,......
प्यार का खेल ही ऐसा है,....
किसी का कुछ नहीं जाता तो किसी का सब कुछ लुट जाता है ..........

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें