बुधवार, 11 जनवरी 2012

दिल का सुकून - शायरी -poadcast

अपने हर लफ्ज़ का खुद आईना हो जाऊंगा,
उसको छोटा कह के मैं कैसे बड़ा हो जाऊंगा,
सारी दुनिया की नजर में है मेरी अहद-ए-वफा,
इक तेरे कहने से क्या मैं बेवफा हो जाऊंगा -

2 टिप्‍पणियां: