सोमवार, 7 मई 2012

अनजानी लड़की के लिए

आपके पैर देखे तो मन मे ख्याल आया
,मै नीचे गिर गया
,या तुम्हारा पैर है उपर आया ,
इन सुंदर पैरों मे है ना जाने
कितने नौजवानों का है दिल समाया ,
जब भी तुम चलोगी ,
ना जाने कितने जवानो ,
बुड्धो का नजरो से ,
या इन पैरों के नीचे ला कर उनका दिल ,
खून करोगी ,

कातिल सोनियो

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें