रविवार, 10 नवंबर 2013

shayar शायर


chunaav चुनाव


अरमान


नाज


शुक्रवार, 25 अक्तूबर 2013

बुधवार, 23 अक्तूबर 2013

शायरी - इश्क


शायरी -अगर दिल से पढो तो

जब  मन किया लिख दिया
दिल की बातों को कागज पर उतार दिया ,
तुम भी कुछ ऐसा ही करो ,
या तो मुझसे प्यार करो
या दिल को मेरी तरह बेक़रार करो


                                        तुम्हारा अमित

SHAYRI-


गुरुवार, 17 अक्तूबर 2013

अपुन का दिल कुछ एस्सा ही है


मोदी


जाती के अनुसार कानून ?


आसाराम को सजा सुना ही दो


neta ji


वैश्या -फिल्म एक्ट्रेस मे अन्तर - मेरी नजर से


होम वर्क - कार्टून


शायरी -बेवफा


नोटिस - लडको को


लड़की की आजादी ? --कार्टून


बुधवार, 16 अक्तूबर 2013

शनिवार, 12 अक्तूबर 2013

ab muskura do jara


शनिवार, 28 सितंबर 2013

सुप्रीम कोर्ट - सच ?


गुरुवार, 26 सितंबर 2013

सजा कब होगी ?




वोट का मोल क्या है ?


बुधवार, 25 सितंबर 2013

मेरा apple ka i pod


गुरुवार, 19 सितंबर 2013

क्यों नहीं की निंदा ?


CARRIER AC -MERI MUSIBAT

बुधवार, 18 सितंबर 2013

शुक्रवार, 13 सितंबर 2013

kanooni कानूनी घोघा या घोघा कानून एक ही बात है - कार्टून cartoon

disclaimer-  ५५ साल पुराने कार्टून का आज के संधर्भ मे शायद ये मतलब होगा

गुरुवार, 12 सितंबर 2013

शुक्रवार, 6 सितंबर 2013

इक जवाब दो



हिंदू संत को करो बदनाम ,होगा तुम्हारा बहुत नाम ...आक थू


भारत के कानून का बलात्कार


ek sawal


सोमवार, 29 जुलाई 2013

ईमानदारी की सजा

ईमानदार अफसर को मुलायम के बेटे ने सस्पेंड किया

दिल्ली से सटे गौतम बुद्ध नगर से तेज तर्रार महिला एसडीएम दुर्गा शक्ति नागपाल को यूपी की अखिलेश सरकार ने सस्पेंड कर दिया है। यूपी के सरकारी प्रवक्ता के मुताबिक काम में लापरवाही के चलते कारवाई की गई है। गौरतलब है कि दुर्गा शक्ति नागपाल की पहचान एक तेज तर्रार अफसर की थी और हाल फिलहाल में उन्होंने खनन माफिया के खिलाफ मुहिम छेड़ रखी थी, लिहाजा इस कारवाई को लेकर सरकार के ऊपर सवाल खड़े हो रहे हैं।

सरकार ने आरोप लगाया है कि अतिक्रमण हटाए जाने के दौरान दुर्गा शक्ति ने एक धार्मिक स्थल को गिरा दिया जिस वजह से उन्हें हटाया गया है। लेकिन क्या इतनी छोटी बात के लिए किसी को सस्पेंड किया जा सकता है। दुर्गा अपनी ईमानदारी के लिए जानी जाती हैं। और उन्होंने अवैध खनन के खिलाफ मोर्चा खोल रखा था। लेकिन सरकार के इस फैसले से खनन माफियों की जीत जरुर हुई है।

दुर्गा बतौर ट्रेनी तैयार थीं, उनका अभी प्रोबेशन पीरियड चल रहा था। जबसे उनकी तैनाती हुई थी, तभी से खनन माफिया उनकी मुहिम को लेकर परेशान थे। लेकिन सरकार ने लापरवाही का आरोप लगाकर उन्हें सस्पेंड कर दिया। दुर्गा कई दिनों से लगातार नोएडा में अवैध खनन कर रहे डंपरों को पकड़ रहीं थी और कई लोगों को गिरफ़्तार भी कर चुकीं थी।


रविवार, 21 जुलाई 2013

RAJNAITIK VIRODH राजनैतिक विरोध - कार्टून


GIRLFRIEND - CARTOON


रविवार, 16 जून 2013

बच सकते हो तो बचो


सोमवार, 27 मई 2013

ख़ामोशी - शायरी


बुधवार, 8 मई 2013

आज का विचार -८-५-१३