शुक्रवार, 20 जून 2014

इश्क में बिछड़ जाने का दुःख जो जानते है ,वो इसे समझ जायेगे- शायरी

1 टिप्पणी: