मंगलवार, 8 जुलाई 2014

शायरी SHAYRI

जब दिल में हर पल प्यार गुनगुनाया करता था ,
बस उसे कैसे जताए सोच सोच कर दिन निकल जाया करता था ,
निकल आती थी दिल से कुछ एसी ही शायरिया ,
जिनसे बन्दा लडकिया पटाया करता था ....

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें