रविवार, 9 नवंबर 2014

अमित जैन की शायरी 10/11/14

सवाल न जवाब
बस आखो से ले लिया हर हिसाब
कितना करते हो प्यार ?
बस आखो ही आखो में हो गई मीठी तकरार...

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें